केशव सृष्टी - सिटी फोरेस्ट

वृक्ष वल्ली आम्हा सोयरे वनचरे

"वृक्ष वल्ली आम्हा सोयरे वनचरे" संत तुकाराम महाराज के इस अभंग के अनुसार संसार में सभी वृक्ष वेली – वनस्पती तथा वन्य जिव हमारे परिवार के सदस्य है | और ये सच भी है सभी धर्मो में, पंथोमे सभी पंथ संप्रदायो में महान संतोने वृक्ष के महत्व विविध ग्रंथो में लिखा है | वृक्ष ही प्रकृति के मुख्य आधार स्तंभ है | वृक्ष है तो पर्यावरण है और पर्यावरण है तो ही जिव सृष्टि है | आज के टेक्नोलोजी वाले युग में विविध प्रकल्पो के लिए वृक्ष तोड़ किया जा रहा है | जिस का खामयाजा गरीब बेजुबान जानवरोंको भुगतना पड़ता है | बेदरकार वृक्ष तोड़ के कारण प्रकृति को भी भरी नुकसान हो रहा है | केशव सृष्टि ने "माय ग्रीन सोसायटी" पर्यावरण विषयक उपक्रम के अंतर्गत शहरों में होने वाले प्रदुषण को रोक लगाने के लिए इस साल मुंबई शहर में १०० घने जंगलोका निर्माण करने का संकल्प किया है |

2
मुंबई शहर
101
सिटी फ़ोरेस्ट
186000
भारतीय वनस्पती
15200000
हेल्दी मुंबईकर

ओक्सीजन की निर्मिती

यह मिनी फारेस्ट हर साल हजारो टन ओक्सीजन की निर्मिती करेंगे |

कार्बनडाई ऑक्साईड में वृद्धि

मिनी सिटी फारेस्ट वाहनोंसे होनेवाला प्रदुषण और कार्बनडाई ऑक्साईड वायु के मात्र को कम करेंगे |

पर्यावरण का संतुलन

मिनी सिटी फारेस्ट पर्यावरण का संतुलन बनाकर पंछिओंका निवारा बनेंगे |

सिटी फारेस्ट - गैलरी

इंडियन नेटीव्ह ट्री - भारतीय स्थानिक वनस्पति

आम्बा
आम्बाडी
बहावा
बकुल
बेहडा
बेल
बिब्बा
चारोली
चीकू
देशी बावल
फणस
कवल
कडू लिंब
गूंज
हिरडा
जामुन
कंचन
कारंज
करवंद
केली
खैर
खिटवी
पांगरा
पपई
पारिजात
पेरू
पिम्पल
रताम्बा
रीठा
सीता अशोक
सीताफल
शेवगा
शिकेकाई
सागर गोटा
सोनचाफा
सुरंगी
सुरु
तूती
तमन
उम्बर
वड


मुंबई शहर के मिनी सिटी फारेस्ट